जनकृति । JANKRITI

अंतरराष्ट्रीय मासिक पत्रिका (विशेषज्ञ परीक्षित) । International Monthly Magazine (PEER REVIEWED/REFEREED)

सबस्क्राईब करें

जनकृति की सभी जानकारी अपने ईमेल पर प्राप्त करें

75+ अंक

9 विशेषांक समेत

3M+

पेज दृश्य

प्रकाशक: जनकृति सामाजिक एवं सांस्कृतिक संस्था|| ISSN 2454-2725 || Frequency: Monthly

पत्रिका परिचय

जनकृति एक बहु-विषयक अंतरराष्ट्रीय मासिक पत्रिका है। यह एक अव्यावसायिक एवं विशेषज्ञ परीक्षित पत्रिका (PEER REVIEWED/REFEREED JOURNAL) है जिसका प्रकाशन जनकृति संस्था द्वारा किया जाता है। पत्रिका का प्रकाशन मार्च 2015 से प्राम्भ हुआ और यह पूर्ण रूप से विमर्श केन्द्रित पत्रिका है, जहां विभिन्न क्षेत्रों के विविध विषयों को एक साथ पढ़ सकते हैं। पत्रिका में एक ओर जहां साहित्य की विविध विधाओं में रचनाएँ प्रकाशित की जाती है वहीं साहित्य, कला,  इतिहास, राजनीतिक इत्यादि से जुड़े शोध आलेख, आलेख, साक्षात्कार इत्यादि  प्रकाशित किए जाते हैं।  अकादमिक क्षेत्र में शोध की गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनृरूप पत्रिका में शोध आलेख प्रकाशित किए जाते हैं। शोध आलेखों का चयन विभिन्न क्षेत्रों के विषय विशेषज्ञों द्वारा किया जाता है, जो विषय की नवीनता, मौलिकता, तथ्य इत्यादि के आधार पर चयन करते हैं। जनकृति के माध्यम से हम सृजनात्मक, वैचारिक वातावरण के निर्माण हेतु प्रतिबद्ध है। ईमेल- jankritipatrika@gmail.com

सूचना- जनकृति के आगामी अंक हेतु शोध आलेख, लेख, साहित्यिक रचनाएँ आमंत्रित हैं। आगामी अंक- अंक 78, अंक प्रकाशन तिथि- 7 नवंबर 2021, 78 वें अंक हेतु आलेख भेजने की अंतिम तिथि- 20 अक्टूबर 2021, भाषा: हिंदी , ईमेल- jankritipatrika@gmail.com

आर्थिक सहयोग

जनकृति पूर्णतः अव्यवसायिक पत्रिका है। इसमें आलेख प्रकाशन हेतु किसी प्रकार का शुल्क नहीं है साथ ही सभी अंक निशुल्क उपलब्ध हैं। आप जनकृति को अपनी स्वेच्छा से आर्थिक सहयोग कर सकते हैं।