Showing 1 Result(s)

पहाड़िया साम्राज्य के आदि विद्रोह एवं बलिदान की समरगाथा: हुल पहाड़िया उपन्यास-विकास पराशर,डॉ विनोद कुमार

पहाड़िया साम्राज्य के आदि विद्रोह एवं बलिदान की समरगाथा: हुल पहाड़िया उपन्यास विकास पराशर1 (पी.एच.डी शोधार्थी),डॉ विनोद कुमार2  (निर्देशक)हिंदी विभाग,लवली प्रोफैशनल यूनिवर्सिटी, फगवाड़ा, पंजाब शोध सार भारत को परतन्त्रता की बेड़ियों से मुक्त करवाने में यदि किसी ने योगदान दिया तो वह पहाड़ियां समाज के वीर नायक बाबा तिलकामांझी थे। जिन्होंने अपने अदम्य साहस और …

error: कॉपी नहीं शेयर करें!!