Showing 1 Result(s)
pencil on opened notebook

समय के संदर्भ को दर्ज करता डायरी का गद्य

माज में व्यक्ति की महत्ता के साथ ही साहित्य में इस कथेतर गद्य की प्रतिष्ठा बढ़ती गयी और यह आत्म विज्ञापन से अलग लेखक के जीवन संघर्ष और सांस्कृतिक संवाद को प्रकट करने वाली विधा के रूप में स्थापित होती गयी. मोहन राकेश एक साहित्यकार थे लेकिन उनकी लिखी हुई डायरी मात्र ‘एक साहित्यिक की डायरी’ नहीं कही जा सकती.

error: कॉपी नहीं शेयर करें!!