Showing 2 Result(s)
half-body mannequin on red leather chair

भूमंडलीकरण और स्त्रीविमर्श

नारीवाद या स्त्री विमर्श किसी एक देश विशेष की पूँजी नहीं है बल्कि यह सम्पूर्ण विश्व की स्त्रियों की मुक्ति का दस्तावेज है. यह मुक्ति है पितृसत्तात्मक सोच से मुक्ति, परम्परा से मुक्ति और उस बने-बनाये ढांचे से मुक्ति जिसमें स्त्रियों को सदैव पुरुषों की दासी के रूप में देखा गया है.

silhouette of woman

स्त्री-विमर्श और निराला के स्त्री विषयक निबंध

आज स्त्री-विमर्श‍ के फलस्वरूप न केवल स्त्री की पहचान निर्मित हुई है बल्कि हर क्षेत्र में उसकी एक स्वतंत्र और स्वाभिमानी छवि भी निर्मित हुई है।

error: कॉपी नहीं शेयर करें!!