D:\laptop Data\jankriti patrika august\extra\पूर्व अंक\200d57b9520f4d21c4d49b98aefddcb4.jpg

सत्ता, संस्कृति और स्त्री की स्वाधीनता-डॉ. मिथिलेश कुमारी

स्त्री की आज़ादी का प्रश्न समाज से कटा हुआ नहीं है। यह जितना स्त्रियों के सहज और सरल जीवन-यापन के लिए ज़रूरी है उतना ही सम्पूर्ण समाज के लिए भी। इस शोध-पत्र में सत्ता और संस्कृति के अंतर्संबंधों को स्त्री आज़ादी के परिप्रेक्ष्य में देखने की कोशिश की गयी है।

Read more